Post

सेंट थॉमस स्कूल में बच्चों ने जाना क्यों मानते है क्रिसमस

PNN/ Faridabad: डबुआ कॉलोनी स्थित सेंट थॉमस स्कूल में 25 दिसंबर को क्रिसमस व बड़े दिन के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया । जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में स्कूल के चेयरमैन नवीन पांडेय व कमला पांडेय को आमंत्रित किया गया। इस दौरान स्कूल का प्रांगण और क्रिसमस ट्री को बेहद खूबसूरती से सजाया गया।


चेयरमैन नवीन पांडेय ने विद्यार्थियों व अभिभावकों के समक्ष क्रिसमस पर्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने छात्रों को बताया कि 25 दिसम्बर को क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है। क्योंकि आज के दिन इशु मसीहा का जन्म हुआ था। उन्होंने ऊंच-नीच व भेदभाव नही मानते थे। वे अपने उपदेशों में हमेशा दूसरों की सहायता का संदेश देते थे।

नवीन पांडेय ने कहा कि भारत एक ऐसा देश है जहां सभी त्यौहार मिल-जुलकर और हर्षोल्लास से मनाए जाते है। इसलिए हमें अपने हिंदुस्तानी होने पर गर्व होना चाहिए।

स्कूल के प्रिंसिपल मनोज कोली ने आये हुए अतिथियों का शॉल ओढ़ाकर व प्रतिमा देकर स्वागत किया गया। अतिथियों ने विद्यार्थियों के साथ मिलकर केक काटा। इसके बाद सेंटा की भूमिका अदा करते हुए एक विद्यार्थी ने बच्चो में टॉफी व चॉकलेट वितरित की। बच्चों ने इस पल जो जमकर इंजॉय किया। इसके पश्चात विद्यार्थियों ने अपने जोहर व अभिनय से विभिन्न परफॉरमेंस से आये हुए अभिभावकों व अतिथियों को मंत्रमुग्ध कर दिया। बच्चों की बेहतरीन प्रदर्शन व उनके प्रोत्साहन के लिए उन्हें सर्टिफिकेट व नकद राशि से पुरूस्कृसत किया गया। अंत मे स्कूली स्टाफ ने आये हुए अतिथियों व अभिभावकों का आभार व्यक्त किया।

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique