Post

2000 टीबी मरीजों को मिल रहा है प्रत्येक माह ₹500

PNN/ Faridabad: टीबी के मरीजों को पौष्टिक आहार देने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने निक्षय पोषण योजना शुरू की है। इस योजना के तहत फरीदाबाद जिले के 2 हजार मरीजों के खाते में हर माह पांच सौ रूपये आ रहे हैं। लेकिन अभी भी तक़रीबन 15 सौ मरीज इस योजना से वंचित हैं।

यह जानकारी PNN कोरेस्पोंडेंट से साझा करते हुए सुभाष गहलोत, डिस्ट्रिक्ट टीबी एन्ड एचआईवी कोऑर्डिनेटर ने कहा कि टीबी मरीजों को हर माह खाने के लिए पांच सौ रुपये मिल रहे है। जब तक मरीज का उपचार चलेगा उसके खाते में पांच सौ रूपये आते रहेंगे। मरीज को रजिस्ट्रेशन होने से उपचार पूरा होने तक इस योजना का लाभ मिलेगा।

1500 मरीजों को नहीं मिल रहा है योजना का लाभ

सुभाष गहलोत ने बताया कि अभी भी तकरीबन 15 सौ मरीजों को इस योजना का लाभ नहीं मिल रहा है, इसका कारण है की छूटे हुए मरीज अपने अकाउंट नंबर को टीबी विभाग में जमा नहीं करवाया है। गहलोत ने यह भी बताया कि तक़रीबन 1 हजार मरीजों के अकाउंट नंबर लिस्ट में जोड़ लिया गया है और बचे हुए 5 सौ के करीब लोग अपने-अपने अकाउंट नंबर हर रोज जमा करवा रहे है, जिन्हें अब योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा।

एक माह से नहीं मिला मरीजों को पैसा

सुभाष गहलोत ने कहा कि दरअसल सीएमओ साहब और टीबी विभाग की हेड शीला भगत मैडम दोनों के हस्ताक्षर के बाद ही पैसा टीबी मरीजों के अकाउंट में ट्रांसफर होता है. लेकिन मौजूदा समय में जिला अस्पताल में सीएमओ की पद रिक्त होने से मरीजों को एक माह से पैसा नहीं मिल पाया है. जैसे ही कोई सीएमओ आता है फिर से मरीजों को पैसा मिलना शुरू हो जायेगा।

सुभाष गहलोत ने कहा कि सरकार की तरफ से मिल रहे आर्थिक सहायता से  टीबी मरीज काफी उत्साहित हैं. क्योंकि ऐसे बहुत सारे मरीज हैं जिनके पास खाने और रहने का इंतजाम नहीं होता है. यहां ज्यादातर मजदूर तबके के लोग रहते हैं, जिनके पास रहने के लिए एक या दो कमरे होते हैं जिसमें कई लोग सोते बैठते हैं. ऐसे में जो टीबी का मरीज होता है उसे दिक्कत होता है या फिर उस स्वस्थ परिवार में टीबी फैलने का डर रहता है. लेकिन हम मरीजों को आगाह करते हैं की वह दिन में धूप में बैठे और रात के वक्त लोगों से थोड़ा सा हटके रहे या फिर हर वक्त अपने मुंह को कपड़े से ढक कर रखें और बलगम को सही तरीके से निस्तारण करें, जिससे की कोई दूसरा व्यक्ति प्रभावित न हो. और निक्षय पोषण योजना के तहत सरकार ने जो प्रत्येक मरीज को ₹500 दे रही है उससे मरीज के खाने की समस्या का समाधान हो जाएगा।

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique