Post

महिला के दिमाग में था ट्यूटर, डॉक्टर 3 साल से कर रहे थे कंधे का इलाज

PNN/Faridabad:बीमारी की सही पहचान न होने के चलते डॉक्टर फरीदाबाद की रहने वाली 55 वर्षीय महिला के कंधे का इलाज करते रहे, जबकि परेशानी महिला के दिमाग में थी। 3 साल तक परेशानी झेलने के बाद परिवार उन्हें दूसरे हॉस्पिटल में इलाज के लिए लेकर गए। जब वहां महिला की जांच कराई गई तो पता चला कि उनके सिर में लगभग 6 सेंटीमीटर का ट्यूटर है। यह ट्यूमर दिमाग के उस हिस्से में था, जहां से उनका हाथ नियंत्रण किया जाता है। इसके बाद डॉक्टरों ने महिला का ऑपरेशन किया और ट्यूमर को निकाला। तीन दिन बाद ही महिला का हाथ उठना शुरू हो गया। 

सर्वोदय अस्पताल के डॉक्टर मुकेश पांडे ने बताया कि जब महिला उनके पास आई तो उनका उल्टा हाथ ऊपर की तरफ नहीं उठता था। उंगलियां काम कर रही थीं, लेकिन महिला हाथ उठाने में असमर्थ थी। डॉ. मुकेश पांडे के अनुसार, महिला के परिजनों ने बताया कि वह इस समस्या का पिछले 3 साल से इलाज करा रहे हैं। डॉक्टरों ने कंधे में समस्या बताई थी और सभी जगह उसी की दवा दी जा रही थी। उन्होंने बताया कि महिला की जांच कराई तो उनके सर में लगभग 6 सेंटीमीटर का ट्यूटर दिखा। इसके बाद ऑपरेशन कर ट्यूमर को निकाला और उसके 3 दिन बाद ही महिला ने हाथ उठाना शुरू कर दिया। 

मौके पर कोसी निवासी महिला देशवती ने बताया कि उन्होंने आगरा, मथुरा व फरीदाबाद से दूसरे अस्पतालों में इलाज करा लिया था, लेकिन सभी कंधे में दिक्कत बता रहे थे। समस्या लगातार बढ़ती जा रही थी और पैर में भी दिक्कत होने लगी थी। महिला के देवर बच्चू सिंह ने बताया कि उन्होंने भाभी के ठीक होने की उम्मीद पूरी तरह से छोड़ दी थी, लेकिन यहां पर डॉक्टरों ने बीमारी को सही तरीके से पहचान कर हमारी भाभी को नया जीवनदान दिया है

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique