Post

सावधान: पराली या खुले में कचरा जलाने से पहले यह खबर जरूर पढ़े, आप पर रखी जा रही है इस तरह नजर

PNN/ Faridabad: खेतों में फसल अवशेषों तथा पराली जलाना और खुले में आग लगाना सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों की अवमानना मानी जाएगी। ऐसा करने वाले के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी ।
इस बारे में निर्देश उपायुक्त अतुल कुमार ने जिला के विभिन्न विभागों व पुलिस के अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी संबंधित विभागों के छोटे से लेकर बड़े अधिकारी तक पराली तथा कचरा जलाने और पर्यावरण में प्रदूषण फैलाने पर रोक लगाने के लिए अपनी जिम्मेदारी को मुस्तैदी से निभाएं और यह सुनिश्चित करें कि जिला में एक भी स्थान पर पराली और कचरा ना जले। जो भी व्यक्ति इन आदेशों की अवहेलना करता पाया जाता है उसके खिलाफ तुरंत एफआईआर दर्ज करवाई जाए और जुर्माने का नोटिस जारी किया जाए। ऐसा करने में विफल रहने पर संबंधित अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

उपायुक्त ने बताया कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने अपने आदेशों में यह भी स्पष्ट किया है कि प्रत्येक ग्राम पंचायत के सरपंच तथा एसएचओ को भी अपने अधीन आने वाले क्षेत्र में हर पल मुस्तैद रहना होगा। जिला प्रशासन भी पराली जलाने की घटनाओं पर नजर रखेगा और जिला के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में ऐसी कोई भी घटना नहीं होने देगा।

उन्होंने बताया कि प्रत्येक गांव में पराली में आग लगाने की घटनाओं पर नजर रखने, इसे रोकने और इसकी सूचना देने के लिए कृषि विभाग के एडीओ, पटवारी व ग्राम सचिव की कमेटी प्रतिदिन 24 घंटे सक्रिय रहेगी। उनके क्षेत्र में यदि आग लगने की घटना होती है तो यह कमेटी पूर्णतया जिम्मेदार होगी। संबंधित एसडीएम भी इन ग्राम स्तरीय कमेटियों के साथ तालमेल रखेंगे और नियमित रूप से क्षेत्र का दौरा करते रहेंगे। जिला के सभी गांवों में जिला विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा ग्राम सभा की बैठक आयोजित करके किसानों को पराली न जलाने के संबंध में जागरूक किया जा रहा है। यह कार्य पूरा करवाने की जिम्मेदारी बीडीपीओ को दी गई है।

उपायुक्त ने बताया कि जिला में कहीं भी पराली जलाने की घटना न होने देने के लिए कृषि उपनिदेशक को ओवरऑल जिम्मेदारी दी गई है। सभी थानों को निर्देश दिए गए हैं कि अधिकारी-कर्मचारी अथवा सरपंच-नंबरदार द्वारा पराली जलाने की शिकायत करने पर तुरंत एफआईआर दर्ज की जाए।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक कंबाइन हारवेस्टर पर चालू हालत में एसएमएस (सुपर स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम) लगा होना सुनिश्चित करेंगे।

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique