Post

निगम आयुक्त मोहम्मद शाईन की बिदाई पर निगम कर्मियों ने दी बिदाई की सौगात

PNN/Faridabad: नगर-निगम के निवर्तमान निग्मायुक्त मोहम्मद शाईन ने निगम कर्मचारियों को आह्वान किया है कि वे पूर्ण निष्ठा, ईमानदारी व समर्पण की भावना से काम करें, क्योंकि फरीदाबाद नगर-निगम एक ऐसा संस्थान है जिससे निगम में कार्यरत 4000 से अधिक कर्मचारियों व अधिकारियों का घर चलता है और 18 लाख की आबादी की देखभाल करता है। यह दिल्ली मेट्रो या ऐसे अन्य संस्थानों की तरह नहीं है कि काम खत्म हुआ और विभाग को समेट दिया जाए, उक्त वाक्य निगमायुक्त मोहम्मद शाइन ने उनके सम्मान के लिए म्युनिसिपल कॉरपोरेशन ईम्पलाईज फेडरेशन द्वारा आयोजित किए गए विदाई समारोह में कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहे।

उन्होंने कहा कि 18 साल की सेवा में उन्होंने पहली बार विदाई समारोह में आना स्वीकार किया है क्योंकि विदाई तो फौजी की उसकी सेवानिवृति या शहादत पर होती है। उन्होंने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि अपनी मजबूरी को हथियार न बनाए, मजबूरी को मजबूरी ही रहने दे अन्यथा एक दिन उन्हें अपने गलत काम का खम्यिाजा भुगतना ही पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि आटे में नमक चलता है, नमक में आटा न मिलाओ और यदि नमक में आटा मिल जायेगा तो आटा कड़वा हो जायेगा, जो कि नुकसानदेह ही साबित हो जायेगा। निगम प्रशासन की ओर से अतिरिक्त आयुक्त धीरेन्द्र खड़गटा व संयुक्त आयुक्त सुबीता ढ़ाका और फैडरेशन की ओर से कर्मी नेता शाहाबीर खान, नेत्रपाल शर्मा, रण सिंह भड़ाना, इन्द्र सिंह, धीर सिंह, दशरथ, धर्मबीर धामा, अतर सिंह भड़ाना, महेन्द्रपाल व कर्म चंद बघेल आदि ने निग्मायुक्त शाईन को इस अवसर पर बुक्के व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित भी किया गया। आज के इस कार्यक्रम का मंच संचालन फैडरेशन के संस्थापक महासचिव व निगम के क्षेत्रीय एवं कर अधिकारी (मुख्यालय) रतन लाल रोहिल्ला ने किया।

निग्मायुक्त शाईन ने निगम के कराधान विभाग की पीठ थपथपाते हुए कहा कि यह विभाग बेहतरीन कार्य कर निगम के वित्तीय स्थिति को सुदृढ़ करने का काम कर रहा है, अतः निगम की अन्य शाखाओं विशेषकर इंजिनियरिंग शाखा को भी अपनी कार्यप्रणाली में निश्चित तौर से सुधार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब उनका स्थानान्तरण यहां पर हुआ तो अखबारों में पड़ने को मिला कि नगर निगम को मिला नया निग्मायुक्त – बहुत बुरा लगा, अतः उन्होंने आते ही निगम की इस छवि को सुधारने की दिशा में काम करना शुरू किया और कुछ किया भी, लेकिन अपने मिशन को पूरा नहीं कर पाए। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि निगम के सिस्टम को ठीक करने के लिए उनके द्वारा उठाए गए कुछ ठोस कदमों को निगम टीम आगे बढ़ायेगी।

इससे पूर्व अतिरिक्त निग्मायुक्त धीरेन्द्र खड़गटा ने मोहम्मद शाईन को एक स्ट्रांग आयरन मैन की संज्ञा देेते हुए कहा कि, उनके निर्णयों से केवल सरकार की वाहवाही हुई है बल्कि निगम कोष में करोड़ो रूपये आए हैं। नगर निगम का नाम हुआ है, निगम की कार्यप्रणाली में सुगमता आई है। उन्होंने कहा कि निग्मायुक्त शाईन ने निगम सिस्टम को ऐसी ताकत दी है जिसके कारण अवैध निर्माण व अवैध कब्जा कर रहे लोगों पर निगम का हथौड़ा चला है और यह आगे भी चलता रहेगा, जो कि आने वाले समय में निगम के लिए अच्छा रहेगा। फैडरेशन प्रधान रमेश जागलान व महासचिव महेन्द्र चौटाला ने अपने सम्बोधन में निवर्तमान निग्मायुक्त को छोटे कर्मचारियों का हितैषी बताया और कहा कि उनके निर्णयों से आने वाले समय में निगम के छोटे कर्मचारियों का ही हित होने वाला है। वे ऐसे अधिकारी हैं जो निगम के कर्मठ व कर्तव्यनिष्ठ कर्मचारियों का बाहरी ताकतों से उत्पीड़न नहीें होने देते थे।

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique