Post

MCD चुनाव में AAP की टिकट पाने के लिए प्रत्याशी ऐसे लगा रहे हैं जुगाड़

PNN/ Faridabad: दिल्ली के तीनों नगर निगमों के चुनाव (MCD Election) को लेकर ज्यों ज्यों समय नजदीक आता जा रहा है, दलों को बदलने वालों का सिलसिला बढ़ रहा है। आम आदमी पार्टी में ऐसे लोग अधिक आ रहे हैं जो चुनाव लड़ने की चाहत रखते हैं। पार्टी भी दमखम वाले नेताओं की तलाश कर रही है। इसी बीच सूचना मिल रही है कि आम आदमी पार्टी में तमाम ऐसे खिवैया आने को तैयार बैठे हैं जो अपनी पार्टी के टिकट बंटवारे का इंतजार कर रहे हैं। उनकी पार्टी से टिकट कटेगी तो वह इधर का रुख करेंगे। ऐसी संभावनाओं को देखते हुए AAP का शीर्ष नेतृत्व भी साफ कर चुका है कि जो लोग पार्टी में हैं या पार्टी में आ रहे हैं, वे टिकट न मांगें, बल्कि अपनी छवि इस तरह की बनाएं कि पार्टी स्वयं उनके पास टिकट देने जाए। संदेश साफ है कि दूसरे दल के निगम पार्षद साथ आते हैं तो उनके लिए रास्ता खुला रहे।

BJP-आम आदमी पार्टी में आरोप-प्रत्यारोप का दौर
जब एक दल दूसरे दल पर आरोप लगाता है तो दूसरा दल भी आरोप लगाने के मौके ढूंढ़ता है। कोशिश कर वह दल भी आरोप ढूंढ़ लेता है। दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी में आजकल आरोपों की राजनीति खूब हो रही है। तमाम मामलों को लेकर राजनीति तो हो ही रही है अब अब ताजा मामला पेट्रोल डीजल के दाम का है। भाजपा इन दोनों पर वैट कम करने का दबाव बना रही है, भाजपा ने दाम कम न करने पर आंदोलन की धमकी भी दे दी है, तो दिल्ली सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी किया है। मगर इसी बीच आम आदमी पार्टी ने भी भाजपा को घेरने का मुद्दा ढूंढ़ लिया है। आम आदमी पार्टी ने भी मांग कर दी है कि भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने डीजल व पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 15 रुपये से बढ़ाकर 34 रुपये कर दिया है, इसलिए केंद्र सरकार अभी कम से कम 15 रुपये और कम करे।

यह भी पढ़ें- हरियाणा के प्राइवेट स्कूलों के प्रोपर्टी टैक्स पर निसा की बड़ी जीत, 8986 शैक्षणिक संस्थानों को मिलेगा लाभ

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique