Post

52 वर्षीय बुजुर्ग ने बनाया दो बालकों को अपनी हवस का शिकार

PNN/Faridabad: कोटा  के कुन्हाड़ी थाना क्षेत्र के सकतपुरा में रविवार को रिश्ते को तार-तार कर देने वाला मामला प्रकाश में आया है। जहां एक परिवार द्वारा अपने दो मासूम बच्चों की रक्षा के लिए 52 साल के बुजुर्ग के पास छोड़कर जाने पर आरोपित बुजुर्ग ने बच्चों को अपने हवस का शिकार बनाया।

कुन्हाड़ी थाना अधिकारी मुनींद्र सिंह ने बताया कि सकतपुरा गर्ग हॉस्पिटल के पास रहने वाले आरोपित 52 वर्षीय शैलेश कुमार पुत्र रतीलाल गुजराती ब्राह्मण ने अपने पड़ोस में रहने वाले 8 व 12 साल के दो बच्चों के साथ कुकर्म किया। 


घटना की जानकारी के बाद पीड़ित पिता ने थाने में आकर मामला दर्ज कराते हुए बताया कि शैलेश कुमार पिछले 25 सालों से उनके यहां किराए पर रह रहा था, जिसके चलते आरोपित से पारिवारिक संबंध थे। कुछ समय पहले आरोपित पड़ोस में किराए पर कमरा लेकर रह रहा था। शुक्रवार को दोनों पति पत्नी बाजार में किसी काम पर जाने से पहले अपने दोनों बच्चों को शैलेश कुमार के यहां छोड़ कर गए थे। शैलेश ने मौके का फायदा उठाते हुए दोनों बच्चों के साथ दो दिन तक कुकर्म की वारदात को अंजाम दिया। 

घटना के बाद पीड़ित बच्चों ने इसकी जानकारी अपने माता पिता को दी तो उन्होंने कुन्हाड़ी थाना पहुंचकर आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज करवाया।कुन्हाड़ी थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपित के खिलाफ 377 आईपीसी की धारा वह पोस्को की गंभीर धाराओं में मामला दर्ज करते हुए देर रात को शैलेश को हिरासत में लिया व रविवार सुबह उसे गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।

थाना मुनींद्र सिंह ने बताया कि आरोपी डायबिटीज का मरीज है जो दिन में तीन बार इंसुलेशन का इंजेक्शन लेता है, व टीवी फ्रिज रिपेयरिंग का काम करता है। पीड़ित परिवार से पुराना परिचय होने के कारण उन्होंने अपने बच्चे की सुरक्षा को लेकर इसके पास छोड़ कर गए थे। जिसका फायदा उठाते हुए आरोपित ने घिनौनी वारदात को अंजाम दिया।

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique