Post

81 वर्ष की उम्र में राजनीति छोड़ नेताजी कर रहे पीएचडी

PNN/Faridabad: कहा जाता है कि पढ़ाई की कोई उम्र नहीं होती। लेकिन जब किसी को बुजुर्ग होने के बाद पढ़ाई का शिद्दत से एहसास हो है तो वो क्या करे? आप कह सकते हैं ज्यादा से ज्यादा ऐसा इंसान किसी कोचिंग या घर पर ट्यूयशन लेकर पढ़ाई कर सकता है। मगर आपको यह जानकर हैरानी होगी कि एक 80 वर्षीय बुजुर्ग नारायण साहू बाकायदा विश्वविद्यालय से पीएचडी कर कर रहे हैं। यह बुजुर्ग को कोई आम शख्स नहीं बल्कि वह एक बार सांसद और दो मर्तबा विधायक रह चुके हैं। 

ओडिशा के रहने वाले पूर्व सांसद और पूर्व विधायक नारायण साहू भुवनेश्वर के उत्कल विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहे हैं। एएनआई से बातचीत में साहू ने बताया कि क्यों उन्होंने राजनीति छोड़ी और पढ़ाई पर अपना ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने कहा, ‘मुझे शुरुआत में राजनीति से बेहद प्यार था। लेकिन जब मैंने राजनीति में गलत होता देखा तो मैं बेचैन हो गया। इसके बाद मैंने राजनीति छोड़ दी और फिर बतौर छात्र खुद में सुधारने लाने का फैसला किया।’ 

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique