Post

दहाड़ी-मजदूरी कर पूरा किया पीएचडी का सपना, युवाओं के लिए बने मिसाल

PNN/Faridabad: हौंसलों में अगर उड़ान हो तो कोई भी मंजिल पाना मुश्किल काम नहीं है।कुछ यही कर दिखाया हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के उपमंडल बड़सर के रहने वाले विजय कुमार ने। कुमार ने बताया कि उन्हें हमेशा से पीएचडी करने का सपना था और वह पढ़ाई की जीवन में क्या अहमियत है उसे बखूबी समझते हैं। इस सपने को सच करने के लिए उन्होंने मजदूरी करके एमफिल तक की पढ़ाई पूरी की और अब इंडियन क्लासिकल म्यूजिक में पीएचडी की डिग्री हासिल कर अपने सपने को पूरा कर दिखाया। उन्होंने भारतीय युवाओं के लिए एक मिसाल पेश की है की दिल में अगर जज्बा हो तो कामयाबी हमेशा मिलती है।

बता दें कि विजय कुमार पुत्र प्रकाश चंद बड़सर के गांव तुखानी के रहने वाले हैं। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के चलते स्कूल के समय से ही विजय कुमार ने गांव में दिहाड़ी मजदूरी कर अपने परिवार और खुद की पढ़ाई का खर्च उठाया।

विजय कुमार ने बारहवीं कक्षा तक की पढ़ाई राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बणी बड़सर से की है। इसके बाद उन्होंने राजकीय महाविद्यालय बिलासपुर से स्नातक और पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ से स्नातकोत्तर की पढ़ाई की है। परीक्षा में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए पंजाब विवि में उन्हें स्वर्ण पदक से नवाजा जा चुका है।

जबकि दिल्ली विवि से उन्होंने एम-फिल की। इसके बाद उन्होंने केंद्रीय विद्यालय पठानकोट में बतौर संगीत अध्यापक नौकरी हासिल की। विजय कुमार ने हाल ही में दिल्ली विवि से पीएचडी की डिग्री हासिल की है। दीक्षांत समारोह में उन्हें उपाधि के साथ सम्मानित किया गया। विजय कुमार का भाई विनोद कुमार भी अपनी पढ़ाई पूरी कर विदेश में नौकरी कर रहे हैं।

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique