Post

बीजेपी, कांग्रेस और शिवसेना जैसी राजनीतिक पार्टियों से यूपी-बिहार के लोगों को पहुंची है ठेस: आप नेता राजकुमार

PNN/ Faridabad: मध्य प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री कमलनाथ के ‘यूपी-बिहार’ वाले बयान का खासा विरोध हो रहा है। कमलनाथ ने सीएम पद की शपथ लेने के बाद मध्यप्रदेश में निवेश को प्रोत्साहन देने वाली योजनाओं का फायदा लेने के लिए कंपनियों से 70 प्रतिशत नौकरिया स्थानीय लोगों के देने को कहा था। उन्होंने कहा था कि एमपी में स्थानीय लोगों को काम नहीं मिलता, जबकि यूपी-बिहार वाले यहां काम करते हैं। आप पार्टी के नेता राजकुमार ने कमलनाथ के बयान की आलोचना करते हुए उसे ‘बांटने’ वाला बताया।

राजकुमार ने कमलनाथ के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि वह मौजूदा नियमों से अंजान हैं, जो स्थानीय लोगों को नौकरी में प्राथमिकता देने की बात कर रहे हैं।
राजकुमार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘वह केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। उन्हें नियमों की जानकारी होनी चाहिए। वह जो बात कर रहे हैं, वह नियत पहले से है। ऐसे दावे करके वह सिर्फ लोगों को गुमराह कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि पहले महाराष्ट्र और गुजरात से ऐसा सुनने को मिलता था, अब एमपी भी इनमें शामिल हो गया है। उन्होंने कहा, ‘यह गलत है, अक्सर आप महाराष्ट्र से भी यही सुनते हैं। उत्तर भारतीय यहां क्यों आए हैं? उन्होंने यहां नौकरियां क्यों ली हैं? और अब एमपी से भी यह सुनने को मिल रहा है। राजकुमार ने आरोप लगाया कि कमलनाथ बांटने की राजनीति कर रहे हैं और एक क्षेत्र के लोगों को दूसरे क्षेत्र के लोगों के खिलाफ कर रहे हैं।


राजकुमार ने चेतावनी बारे लहजे में कहा कि यदि कमलनाथ का बयान राजनीति में भी लागू हो गया तो उन्हें काफी पोशानी हो जाएगी। उन्होंने कहा, ‘कमलनाथ का जन्म कानपुर में हुआ। उनकी पढ़ाई-लिखाई बंगाल में हुई। उनका बिजनस पूरे देश में है। वह एमपी के सीएम हैं। ऐसा बयान उन्हें शोभा नहीं देता।’

राजकुमार ने कहा कि बीजेपी, कांग्रेस और शिवसेना जैसी राजनीतिक पार्टियों द्वारा पूर्वांचल के लोगों के बारे में बार-बार गलत टिप्पणियां कर उनके मान सम्मान को ठेस पहुंचते हैं जिसे आप पार्टी किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगी और आप पार्टी पूर्वांचल वासियों की हक़ की लड़ाई लड़ती रहेगी।


राजकुमार ने कहा कि हाल ही में गुजरात की घटना से सबक लेनी चाहिए जहां घटना के बाद पूर्वांचा वासियों के अपने गृह क्षेत्र लौटने के बाद वहां की उत्पादन से लेकर जीडीपी तक सभी में गिरावट दर्ज की गई थी।


राजकुमार ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की विचारधारा के तहत आने वाले समय में सभी प्रवासी भाइयों को उचित सम्मान दिया जाएगा हम किसी कीमत पर देश का बंटवारा बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique