Post

संविधान के वजह से हमारा देश पूर्ण गणतंत्र है: मेहरचंद हरसाना

PNN/ Faridabad: वार्ड-9 उड़िया कॉलोनी में, वरिष्ठ बसपा नेता एवं समाजसेवी मेहरचंद हरसाना प्रधान जी (Meharchand Harsana) ने ध्वजारोहण करते हुए गणतंत्र दिवस की समस्त क्षेत्र एवं प्रदेश वासियों को शुभकामनाएं दी. इस मौके पर देश के लिए मर मिटने वाले शहीदों को भी याद किया. इस पावन अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए मेहर चंद हरसाना ने कहा कि हर साल 26 जनवरी को देशभर में गणतंत्र दिवस गर्व और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. हम आजाद तो 15 अगस्त को हुए लेकिन हमें पूरी आजादी मिली 26 जनवरी को मिली जब हमारा संविधान बनकर तैयार हुआ.

हरसाना ने यह भी कहा कि हम सभी आज अपने देश का 73वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिए यहां एकत्रित हुए हैं. मैं गणतंत्र दिवस पर भाषण देने के लिए सम्मानित महसूस कर रहा हूं. गणतंत्र दिवस हर साल 26 जनवरी को हमारे देश में बहुत खुशी और गर्व के साथ मनाया जाता है. हम सभी जानते हैं कि भारत को स्वतंत्रता 15 अगस्त 1947 को मिली थी, लेकिन राष्ट्र का अपना कोई संविधान नहीं था. इसी दिन यानी 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था जिसे बाबा साहब डॉक्टर भीम राव अंबेडकर ने बनाया था. आज इसी संविधान के वजह से हमारा देश पूर्ण गणतंत्र है. उन्होंने हमेशा महिलाओं को शिक्षा देने पर जोर दिया. उन्होंने समाज में हर वर्ग के लिए समानता, शिक्षा, अधिकार और सम्मान देने की बात कही और उसके लिए सदैव काम किया. उन्होंने पिछड़े और मजदूर वर्ग के अधिकारों का कड़ा समर्थन किया.

वहीं एक अन्य कार्यक्रम में, गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर, सुनील पहलवान की तरफ से दंगल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था. जिसमें मेहरचंद हंसाना बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में शरीक होकर खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया. बसपा नेता ने कहा कि कॉमनवेल्थ गेम्स हो या फिर एशियन गेम्स, या फिर हो चार साल बाद आने वाला खेलों का महाकुंभ ओलंपिक. हर बार भारत अपने खिलाड़ियों के कारण सम्मानजनक स्थान पर दिखाई देता है. ये सम्मान दिलाने में भले ही सारे देश के युवा खिलाड़ियों का योगदान हो लेकिन इसमें सबसे आगे होते हैं हरियाणा के खिलाड़ी.
यही वो राज्य है जिसने अपनी खेल नीतियों के कारण ऐसे खिलाड़ियों को जन्म दिया जिन्होंने सिर्फ कॉमनवेल्थ ही नहीं बल्कि एशियन गेम्स और ओलंपिक जैसे महाकुंभ में भी अपने नाम की पहचान करवाई. यही वो राज्य है जिसने स्पैट जैसे आधुनिक खेल टेस्ट का निर्माण किया जिसकी मांग विश्व भर के अग्रणी देश कर रहे हैं. हमारे सिर्फ साधारण खिलाड़ी ही खेलों में आगे नहीं हैं, बल्कि हमने पैरा गेम्स में भी अपना वर्चस्व कायम रखा है. यहां के युवा सिर्फ एक ही खेल में नहीं बल्कि सभी खेलों में आगे हैं. फिर वो चाहे कुश्ती हो या बॉक्सिंग. क्रिकेट हो या फिर एथलेटिक्स. हमारे युवा हमेशा ही सबसे आगे रहते हैं.

इस मौके पर उत्कल संस्कृति सेवा संघ की समस्त टीम, प्रधान सुखदेव बेहेरा, जनरल सेक्रेटरी पुरुषोत्तम प्रधान, उप प्रधान धनेश्वर प्रधान, संतोष सहित तमाम स्थानीय लोग भी मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें- ICSI फरीदाबाद में मनाया गया गणतंत्र दिवस, चेयरमैन अनमोल नाकरा ने फहराया तिरंगा

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique