Post

किसानों ने फूंका विधायक का पूतला, कहा जिसे जिताया वो किसी काम का नही

PNN India: हरियाणा फतेहाबाद जिले के उपतहसील जाखल अनाज मंडी का निरीक्षण करने पहुंचे विधायक देवेंद्र सिंह बबली को कृषि कानूनों के विरोध में एवं धान बेचने में आ रहीं समस्या को लेकर किसान संघर्ष समिति ने न केवल काले झंडे दिखाए, अपितु विधायक बबली व राज्य सरकार के खिलाफ पूरे जोश के साथ नारेबाजी करते हुए विधायक का पूतला भी फूंका।

करीब एक घंटे तक किसान संघर्ष समिति के सदस्य जाखल अनाज मंडी विधायक के सामने काले झंडे दिखाकर नारेबाजी करते हुए जमकर विरोध किया, व विधायक से इस्तीफे की मांग करते हुए उन्हे सिरसा धरने में शामिल होने की मांग की। लेकिन टोहाना विधायक ने किसानों को कहा कि वह सरकार के साथ सतापक्ष में उनके इस्तीफा देने से कुछ नही होगा इससे किसानों में रोष पनप गया।

Farmers

दरअसल, टोहाना के विधायक देवेंद्र बबली सोमवार को जाखल अनाज मंडी में धान खरीद व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचें थे। विधायक के पहुंचने की जानकारी होने पर किसान संघर्ष समिति जाखल के किसान अनाज मंडी में एकत्रित हो गए। किसान पहले से विधायक का विरोध करने के लिए हाथों में काले झंडे लिए हुए थे। दोपहर करीब दो बजे विधायक का काफिला जाखल मंडी में प्रवेश करने लगा, तभी किसानों ने विधायक का विरोध शुरू कर दिया। किसानों ने गठबंधन सरकार व टोहाना विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। हालांकि पुलिस ने किसी तरह विधायक के काफिले को मंडी प्रांगण में प्रवेश दिलाया। किसान कृषि कानूनों व धान बेचने में आ रही दिक्कतों को लेकर सरकार से आक्रोशित है। ऐसे में किसानों द्वारा उनके खिलाफ रोष प्रकट किया गया है। वही मंडी का दौरा करने पहुंचे विधायक बबली अनाज मंडी में प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच में पहुंचे और किसानों की समस्या को जानना चाहा तो किसानों ने विधायक से इस्तीफ की मांग करते हुए उनके साथ धरने में बैठने की बात की। लेकिन विधायक ने कहा कि मेरे इस्तीफा देने से कुछ नही होगा बल्कि वे उनकी बात को सरकार तक पहुंचाने का काम करेंगे।
किसानों ने कहा कि विधायक को भी उनके द्वारा ही बनाया गया है इसलिए अब विधायक का फर्ज बनता है कि वे उनकी आवाज को बुलंद करने के लिए उनके साथ धरने पर आकर उनका साथ दे और केन्द्र सरकार ने किसानों के खिलाफ तीन काले कानून बनाए है वे उन्हे बापिस लेने के लिए सरकार के खिलाफ किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उनका साथ दें अन्यथा अपने वाले समय में किसान विधायक कि खिलाफ खड़े होगें।

इस मौके पर मीडिया को जानकारी देते हुए विधायक देवेंद्र बबली ने कहा कि कुछ लोग किसानों को बहका रहे है। उन्होंने कहा कि वे स्वयं किसान परिवार से हैं। सभी उनके अपने हैं। विधायक ने कहा कि वे किसानों अपनी एक कमेटी बनाकर उनके साथ मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री के पास चले। उन्होने कहा कि वे सरकार के साथ सतापक्ष मे है उनके इस्तीफा देने से कुछ नही होगा। लेकिन वे उनकी आबाज को सरकार तक पहुचानें और उनकी समस्याओं का समाधान करवाने के लिए प्रयासरत है।

वही किसानों ने करीब एक घंटे तक प्रदर्शन करने के बाद किसानों ने एक बैठक का आयोजन किया। जिसमें किसान लाभ सिंह उदेपुर, बाबू सिंह तलवाड़ा, अंग्रेज सिंह, चेत सिंह,  जरनैल सिंह, जग्गी, अमित, सतीश, करनैल सिंह, जंग सिंह, अजैव सिंह, देव सिंह, मिठू सिंह सहित भारी संख्या में किसान एकत्रित हुए। प्रदर्शन कर रहें गुस्साए किसानों ने देवेंद्र बबली के काफिले के आगे काले झंडे दिखा कर विधायक देवेंद्र बबली मुर्दाबाद, भाजपा व जजपा सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए जमकर हंगामा किया।

यह भी पढ़ें-

NEET 2020 Result इस दिन हो सकता है जारी… ऐसे करें चेक

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique