Post

हड़ताल के चलते बैंकों पर लगे रहे ताले

PNN/Faridabad: शुक्रवार को आल इंडिया बैंक आफिसर्स कन्फेडरेशन द्वारा एक दिवसीय हड़ताल का आह्रवान किया गया था। जिसका कोरबा में व्यापक असर दिखा। जिले के शासकीय बैंक अधिकारी, कर्मचारी हड़ताल पर रहे। बैंक अफसर व कर्मचारी बैंक जरूर पहुंचे लेकिन कामकाज नहीं किया। उपस्थिति दर्ज उन्होंने बैंक के सामने प्रदर्शन किया। 

हड़ताल से करोड़ों का लेन-देन प्रभावित होने के आसार है। आज से 26 दिसंबर तक बैंक बंद रहेंगे। इसकी वजह आगामी दो दिन शनिवार व रविवार होने की वजह से बंद रहेगा। वहीं 24 दिसंबर को एक दिन के लिए बैंक खुलने के बाद 25 दिसंबर को क्रिसमस की छुट्टी रहेगी। इसके बाद 26 दिसंबर को पुन: हड़ताल घोषित की गई है।

हड़ताल को सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकर्स का समर्थन प्राप्त है। प्रमुख मांगों में 11 वें वेतनमान, बैंक विलय, 25 प्रतिशत सैलरी इंक्रीमेंट व मनरेगा, उज्जवला योजना से कामकाज प्रभावित होने को लेकर शामिल है। लगातार बैंक बंद होने से बैंक से जुड़े हर आम आदमी को भारी मुसीबत झेलनी पड़ सकती है। अधिकारी-कर्मचारी संघ की प्रमुख्य मांग वेतन समझौता है। 

प्रत्येक पांच वर्ष के बाद वेतन पुर्ननिर्धारण होता है। यह नवंबर 2017 में हो जाना चाहिए था। जिस पर आज तक मुहर नहीं लग पायी है। यह वेतन निर्धारण इंडियन बैंक एसोसिएशन के शीर्ष पदस्थ अधिकारी तय करते है। इस संघ में 22 बैंकों के प्रतिनिधि रहते है। 26 दिसंबर की हड़ताल तीन बैंकों, बैंक ऑफ बडौदा, देना बैंक और विजया बैंक के एकीकरण के सरकारी प्रयास के विरोध में रखी गयी है। 

Sharing Is Caring
Shafi-Author

Shafi Shiddique